Thu. Sep 29th, 2022

 भारत सरकार द्वारा समय समय पर सभी लोगो के लिए विभिन्न योजनाए  लागु की जाती रहती है. कोविड के बाद भी योजनाओं का विस्तार किया जा रहा है. जिससे की लोगो का इन्वेस्टमेंट बढे और मार्किट मे पैसा आये. इसी मुहीम के तहत सरकार द्वारा retail निवेशकों के लिए समय समय पे बहुत सी सुविधाजानक को लाया जाता रहता है. इसी कड़ी मे कल श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा एक योजनाओं की घोषणा की गयी (Retail direct scheme) जो 12 नवंबर से लागु भी कर दी जाएगी.इससे retail निवेशकों का निवेश बढ़ेगा और सरकार के पास भी पैसा आएगा.

Table of Contents

    रिटेल डायरेक्ट स्कीम क्या है (what is Retail direct scheme )

    प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा 12 नवंबर को वीडिओ कॉन्फ्रेंस की गयी. इस कॉन्फ्रेंस मे उनके द्वारा 2योजनाओं का उद्घाटन किया गया. जिसमे से एक खुदरा निवेशकों के लिए और रखा बैंकिंग कस्टमर के लिए एकीकृत लोकपाल योजना की घोषणा की गयी .खुदरा निवेशकों के लिए retail direct scheme के द्वारा सरकार अपने सरकारी बॉन्ड मे निवेश के लिए retail इन्वेस्टर को मौका दे रही है. इससे छोटे खुदरा निवेशकों को उनकी वित्तीय सुरक्षा भी प्रदान की होंगी. और सरकार के पास भी पैसा आएगा. ये योजनाएं भारत मे रिटेल इन्वेस्टर के लिए 1.1ट्रिलियन का बॉन्ड बाजार खोल देगा. जिससे निवेश की संभावनाएं बढ़ जाएगी.

    RDG Account for investment

    G-sec क्या होता है{ What is G-sec}

    G-sec (गवर्नमेंट सिक्योरिटी ) को केंद्र अथवा राज्य सरकारों द्वारा जारी किया जाता है . इन्हे खरीदा व बेचा जाता है . इसके द्वारा सरकारे ऋण जुटाने का प्रयास करती है. इन्हे छोटी अवधि के लिए जारी किया जाता है. छोटी अवधि मे हम इसे ट्रेजरी बिल कहते है. यह बिल 1साल से कम समय के लिए जारी किये जाते है. सामान्यतः ट्रेजरी बिल 91,182,364 दिनों के लिए जारी किये जाते है. इन्हे फंड जुटाने के लिए जारी किया जाता है. जब यही बिल 1साल से 5 साल ये 40 साल तक की अवधि के लिए जारी किये जाते है तो यह बॉन्ड या सिक्योरिटीज कहलाते है. इन्हे ही गवर्नमेंट सिक्योरिटी (G-sec) बोला जाता है.

     यदि कोई G-sec मे निवेश करना चाहता है तो mutual fund के माध्यम से कर सकता है . और तीन साल से अधिक अवधि तक यदि इन्वेस्टमेंट रहता है तो इनकम टैक्स मे भी आपको छूट मिलती है .परन्तु डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट मे इसमें टैक्स चुकाना पड़ता है 

    RDG( Retail direct Glit ) अकाउंट क्या है (What is RDG account)

    (Retail direct Glit ) अकाउंट खुदरा निवेशकों के लिए सरकारी सिक्योरिटी मे निवेश करने का माध्यम है. यदि खुदरा निवेशक सिक्योरिटीज मे निवेश करना चाहते है . तो यह अकाउंट खुलाना आवश्यक है. इस आकउंट को खोलने के लिए आपको कंही जाने की आवश्यकता नहीं है. आप इसे ऑनलाइन माध्यम से ही खोल सकते है.इसके आकउंट को खोलने के लिए कोई फीस नहीं लगेगी. और सिक्योरिटीज की बोली लगाने के लिए भी कोई फीस नहीं ली जाएगी. परन्तु पेमेंट gateway के द्वारा कुछ फीस ली जा सकती है.

    RDG अकाउंट ऑनलाइन कैसे ओपन करें {How to open RDG account online}

    RDG अकाउंट ओपन के लिए सबसे पहले आपको  https://rbiretaildirect.in/ पे रजिस्ट्रेशन करना आवश्यक है. उसके लिए आपको अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर, ईमेल id की आयश्यकता होंगी. क्युकी रजिस्ट्रेशन के समय आपको OTP पूछा जायेगा. और भविष्य मे भी कोई भी खरीदने बेचने की जानकारी भी sms के माध्यम से भी मिलेगी. इसके साथ साथ आपको OVM की आवश्यकता भी होंगी. अर्थात वैलिड डॉक्यूमेंटेशन जिससे आपकी पहचान पूरी की जा सके जिसे हम KYC वेरिफिकेशन भी कहते है.

    गोल्ड बांड क्या होते है इसमे कैसे निवेश करे|

    आपका पहचान पत्र, PAN कार्ड इन सभी डॉक्यूम्नेट की आवश्यकता पड़ेगी. और इसी के साथ साथ आपको सेविंग बैंक अकाउंट की आवश्यकता होंगी . जिससे की आप भविष्य मे ट्रांसक्शन भी करेंगे. उसकी पुरो डिटेल्स आपको भरनी होंगी.

    ट्रेडिंग करने के लिए आपको money ट्रांसक्शन के लिए सभी प्रकार की सुविधा दी जायेगी. सभी पेमेंट डिजिटल मोड से होंगी इंटरनेट Bnaking/UPI की सुविधा भी इसमें दी गयी है ताकि निवेश मे किसी तरह की कोई समस्या ना हो. और निवेशक, gold बॉन्ड, गवर्नमेंट loans, सिक्योरिटीज मे इन्वेस्टमेंट कर सके.

    2 thoughts on “Retail direct scheme क्या है. RDG अकाउंट कैसे खुलाये और इन्वेस्ट करें.||What is Retail direct scheme. How to open and invest RDG account in hindi”

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *