Fri. Sep 30th, 2022

भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड (सेबी) के बोर्ड ने इन्वेस्टरो सोने मे निवेश करने से संबंधित एक घोषणा कि है. SEBI ने सोने और सोशल स्टॉक एक्सचेंज मे भी कई नये सुधार किये.वर्तमान मे भारत मे अभी सोने मे निवेश GOLD future मे एवं कोमोडिटी मार्किट के द्वारा निवेश कर सकते है. परन्तु अन्य कुछ देशो मे स्पॉट एक्सचेंज के द्वारा भी gold मे निवेश किया जाता है. यह प्रभावी कदम वित्त मंत्री सीतारमण जी के द्वारा SEBI को स्पॉट एक्सचेंज का नियामक -नियंत्रण देंने के बाद आया है.

सरकार के निर्देशानुसार सोने कि ट्रेडिंग EGR(electronic gold receipt ) के रूप मे शेयर के सामान होंगी. Regulatory controller सेबी कि मीटिंग मे एक्सचेंज और सेबी (वाल्ट मैनेजर्स ) विनियम 2021 कि रुपरेखा को मंजूरी दी गयी. देश gold एक्सचेंज बनाया जायेगा. सोने की ट्रेडिंग के लिए.

Table of Contents

    गोल्ड एक्सचेंज  का कार्य | Gold exchange work in Hindi

    अतः अब SEBI द्वारा देश मे gold एक्सचेंज की शुरुआत होंगी यहां आसानी से किसी के भी द्वारा सोना खरीदा व बेचा जा सकेगा. जिस प्रकार स्टॉक मार्केट मे जब भी हम कोई share खरीदते है. तो वह तुरंत हमारे Demat act मे नहीं आता. उसके लिए 2-3 दिन का समय लगता है. उसी प्रकार Gold एक्सचेंज मे भी 2-3 दिन का टाइम लगेगा.

    इस प्रकार हम कह सकते है की gold एक्सचेंज का काम करने का तरीका share मार्केट के जैसे ही होगा. आर्डर, डिलीवरी, share ट्रांसफर इत्यादि.वैसे यदि अन्य देशो की बात की जाये तो. भारत के अलावा दुनिया मे कुछ और देशो मे पहले से gold एक्सचेंज कार्य कर रहे है. जैसेकी अमेरिका का न्यूयोर्क, UK मे लंदन,शांघई, हांगकांग.

    Gold एक्सचेंज के फायदे {Advantages of Gold Exchange in hindi }

    Gold एक्सचेंज का सबसे मुख्य फायदा यह है की देश में ालॉग अलग राज्यों में रह रहे सभी लोहो का सोने का सही और एक भाव ही पता चलेगा . देश मे अभी सभी राज्यों और शहरो मे gold के भाव  अलग अलग होता है. परन्तु gold एक्सचेंज के बाद gold एक्सचेंज मे जो सोने का दाम होगा वो India Gold Price के नाम से जाना जायेगा

    केडिया advisory के निदेशक के अनुसार सरकार के इस कदम से सोने का एक राष्ट्रीय मूल्य तय होसकेगा. मतलब कि सोने का एक ही मूल्य सभी राज्यों मे समान हो सकेगा.ऑल इंडिया जेम्स and ज्वेलरी डोमेस्टिक कॉउन्सिल (JJC)  के चैयरमेन ने कहा कि ये प्रभावी कदम क्षेत्रीय मूल्य के एकीकरण से एक समान कीमत से एक ही बाजार लाएगा.

    इनकम टैक्स Return भरने से पहले जाने नए बदलाव !

    EGR से क्या समझते है { {What do you understand by EGR in hindi }

    EGR का price gold एक्सचेंज SEBI के द्वारा ही तय किये जायेंगे. EGR कि कोई expiry date नहीं होंगी. निवेशक जब तक चाहे इसे अपने पास रख सकता है. धारक चाहे तो EGR को सौंप कर उस समय के मूल्य के आधार पे सोना ले सकते है.परन्तु अभी तक ट्रेडिंग करने कि सीमा तय नहीं कि गयी है. कितने मूल्य या वजन का ट्रेड हो सकता है. ये अभी तय करना बाकी है. भारत मे सोने कि खपत बहुत ज्यादा है सेबी के केअनुसार, प्रस्तावित सोने के लेन देन से कुशल और पारदर्शी एक समान मूल्य की खोज, सोने की गुणवत्ता में आश्वासन और विश्वास , सक्रिय खुदरा भागीदारी के साथ भारत के सोने के अचे अच्छे वितरण मानक को बढ़ावा देना, सभी जगह वित्तीय बाजारों के साथ अधिक एकीकरण और सोने के पुनर्चक्रण में वृद्धि होगी।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *