Fri. Sep 30th, 2022

Elss fund vs Ulip fund के बारे में आप सभी ने सुना होगा यह दोनों फाइनेंस प्रोडक्ट है. अगर जो व्यक्ति इन फंड में इन्वेस्ट करता है तो वह इनकम टैक्स से बच सकता है और अधिकतर लोग इन्हीं फंड में इन्वेस्ट करते हैं। आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले हैं, इन में में सबसे अच्छा कौन है और इन दोनों फंड में क्या अंतर है ?

आज के समय में अधिकतर लोग इन में इन्वेस्ट करके इनकम टैक्स से बच रहे हैं . क्योंकि इन फंड में इन्वेस्ट करके इनकम टैक्स से बचा जा सकता है , और भविष्य में अपने पैसे को डबल किया का सकता है।

Table of Contents

    Elss fund क्या है ?

    Elss fund एक प्रकार का म्यूजिक फंड है,Elss एक प्रकार का टैक्स सेविंग फंड है। इस फंड में इन्वेस्ट करके कोई भी व्यक्ति इनकम टैक्स से बच सकता है। आप किसी भी Elss fund में ₹70000 इन्वेस्ट करते हैं, तो आप अपनी इनकम को इनकम टैक्स से बजा सकते हैं। Elss fund में लॉकिंग टाइम 3 वर्ष का होता है.

    जब आप इस फंड को 3 साल बाद रिडीम करेंगे , तो आपको आपको इन पर लॉन्ग टाइम पीरियड बाद 10% टैक्स देना होगा। इस फंड में आपको इंडक्शन का बेनिफिट नहीं मिलता है।

    Elss fund  में इन्वेस्टर अपने फंड को बहुत आसानी से ट्रैक कर सकता है यह फंड उन लोगों के लिए बेस्ट है, जो  इन्वेस्टमेंट इनकम पर निर्भर नहीं रहना चाहते इसके अलावा यह फंड उन लोगों के लिए भी अच्छा है जो शॉर्ट टर्म टाइम के लिए इन्वेस्ट करना चाहते हैं। Elss fund में कम रिस्क के साथ अधिक प्रॉफिट कमा सकते हैं।

    Elss Fund vs Ulip fund

    Ulip fund क्या है?

    Ulip fund मतलब यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान लाइफ इंश्योरेंस और इन्वेस्टमेंट का मिक्सर होता है, यह प्लान अधिकतर लाइफ इंश्योरेंस कंपनियां देती हैं यहां पर कंपनी का उद्देश्य होता है लाइफ के साथ वेल्थ भी कवर करना होता है यहां पर कंपनी कुछ पैसे को इन्वेस्ट फंड में डालती है और बाकी का फंड कंपनी इक्विटी और डेथ दोनों में इन्वेस्ट किया जाता है। कंपनी के पास अपने फंड मैनेजर होते हैं जो इन फंड को मैनेज करते हैं।

    इसके अलावा Ulip मार्केट कंडीशन ओर रिस्क के आधार पर अपना पोर्टफोलियो डेथ ओर इक्विटी के बीच  स्विच करने का मौका देते हैं। 2012 में ULIP Fund टैक्स में थोड़ा बहुत छुट दी गई थी लेकिन

    2021 तक Ulip fund में कोई भी गेन टैक्स नहीं लगता था . लेकिन 2021 में बजट में इस नियम को चेंज कर दिया गया है। 2021 के बाद जो भी Ulip फंड साइन होंगे उन पर Elss fund की तरह टैक्स लगेगा। ढाई लाख शॉर्ट टीम में डेट वाले व्यक्ति पर किसी भी प्रकार का टैक्स नहीं लगेगा।

    Ulip fund उन लोगों के लिए बेस्ट फंड है जो लोग लॉन्ग टर्म टाइम के लिए नष्ट करना चाहते हैं। इसमें एक फंड का हिस्सा अलग-अलग फंड में जमा किया जाता है। Ulip fund को 1971 में पहली बार लाया गया था, Ulip fund में एक साथ दो फायदे मिल जाते हैं एक तरफ इंश्योरेंस का और दूसरी तरफ मार्केट रिटर्न भी मिलता है।

    Elss fund vs Ulip fund में अंतर

    Ulip vs Elss fund दोनों की टैक्स सेविंग फंड है लेकिन इन दोनों में बहुत ज्यादा अंतर भी है। इन फंड में इन्वेस्ट करने से पहले इनके अंतर को समझना बहुत जरूरी है जैसे:

    • Elss fund संपूर्ण निवेश का एक विकल्प है जबकि
    • Ulip fund एक बीमा और कम निवेश वाला फंड है।
    • Elss fund में एक मैनेज फंड है इसमें व्यक्ति को  विभिन्न निवेश के द्वारा प्रॉफिट दिया जाता है जबकि
    • Ulip fund एक प्रकार का लाइफ इंश्योरेंस फंड है जो फंड टैक्स और निवेश में छूट प्रदान करता है।
    •  Elss fund 3 साल के लिए होता है जबकि Ulip fund 5 साल के लिए होता है।
    • Elss fund में टैक्स नियमों के अनुसार 1 साल में ₹100000 तक निवेश टैक्स से फ्री रहते हैं जबकि
    • Ulip fund में आयकर धारा 80c के अनुसार निवेश पर टैक्स से मुक्त रहता है।
    • Elss में सारा पैसा इक्विटी फंड में लगाया जाता है .जबकि Ulip fund में पैसा एक से दूसरे फंड में लगाया जा सकता है।
    • Ulip fund को IRDA के द्वारा रेगुलेटर किया जाता है।जबकि Elss fund को sebi के द्वारा हैंडल किया जाता है
    • Elss fund में पैसे की पूरी जानकारी रहती है कि पैसा कहां लगाया गया है जबकि Ulip fund में पैसे की कोई जानकारी नहीं होती है कि पैसा किस फंड में लगाया गया है।
    • Ulip fund में प्रॉफिट और लाभ को कैलकुलेट नहीं किया जा सकता है  बल्कि लाइफ इंश्योरेंस की गारंटी ली जा सकती है। Elss fund में प्रॉफिट और जोखिम रिटर्न सारी बातें फंड मैनेजर के ऊपर निर्भर करती है।
    • Elss fund में प्लान बना रहना आवश्यक नहीं होता है जबकि Ulip fund में पॉलिसी और नियम शर्त के अनुसार बना रहना आवश्यक रहता है।

    Elss fund vs Ulip fund में कमियां

    इन दोनों टैक्स सेविंग फंड में कमियां देखी गई है.

    उच्च जोखिम वाले ईएलएसएस फंड: ईएलएसएस म्यूचुअल फंड का इक्विटी बाजारों में बहुत बड़ा निवेश है। इक्विटी से संबंधित उपकरण बाजार में उतार-चढ़ाव के लिए अतिसंवेदनशील होते हैं। इसलिए, इसके कारण ईएलएसएस म्यूचुअल फंड उच्च जोखिम उठाते हैं।
    
    ईएलएसएस लिक्विडिटी: ईएलएसएस म्यूचुअल फंड 3 साल की लॉक-इन अवधि के साथ आते हैं। ईएलएसएस फंड में निवेश करने वाले निवेशकों को पता होना चाहिए कि वे लॉक-इन अवधि समाप्त होने से पहले ईएलएसएस म्यूचुअल फंड से बाहर नहीं निकल सकते हैं।
    
    जोखिम से बचने वाले निवेशकों के लिए नहीं: चूंकि ईएलएसएस म्यूचुअल फंड इक्विटी बाजारों में टैप करते हैं, इसलिए जोखिम से बचने वाले निवेशकों को इस कर बचत विकल्प पर सावधानी से विचार करना चाहिए क्योंकि यह निवेश निवेश पर उच्च जोखिम रखता है।
    
    सीमित लाभ: निवेशक केवल 1,50,000/- का कर लाभ प्राप्त कर सकते हैं, भले ही वे अधिशेष राशि का निवेश करते हों। यानी अगर कोई निवेशक 12,00,000/- का निवेश करता है तो उसे 1,50,000/- का टैक्स लाभ ही मिलेगा।
    
    प्रबंधन लागत: चूंकि ईएलएसएस म्यूचुअल फंड पेशेवर फंड मैनेजरों द्वारा प्रबंधित किए जाते हैं, इसलिए किसी को एक निश्चित शुल्क की अपेक्षा करनी पड़ती है जो उनके विशेषज्ञ प्रबंधन के लिए भुगतान करने के लिए उत्तरदायी है।
    
    खराब प्रबंधन: यदि फंड मैनेजर अपने अधिकार का दुरुपयोग करता है और लगातार पोर्टफोलियो का मंथन करता है, तो यह आपके फीस पर खर्च को बढ़ा देता है। यह आपको उप-इष्टतम रिटर्न प्राप्त करने के लिए प्रेरित कर सकता है।
    
    Ulip का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि रिटर्न की गारंटी नहीं दी जा सकती है। उदाहरण के लिए, यदि आपने एक यूलिप चुना है जो इक्विटी में भारी मात्रा में निवेश करता है और शेयर अच्छा नहीं कर रहे हैं, तो पैसे खोने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। यह सबसे बड़ा जोखिम है और शायद एकमात्र नुकसान जो यूलिप से देखा जा सकता है। 
    
    यूलिप के अन्य नुकसानों में से एक यह है कि रिटर्न बहुत खराब है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इस योजना से जुड़े कई शुल्क हैं, जिनमें प्रशासनिक शुल्क, मृत्यु दर आदि शामिल हैं। इससे आपके रिटर्न में काफी कमी आती है। पहले वर्ष में, इन शुल्कों का भुगतान करने पर आपका लगभग 5 प्रतिशत धन नष्ट हो जाता है।
    
    
    

    Elss fund vs Ulip fund में कौन बेस्ट है

    एक हिसाब से दोनों ही बेस्ट है अगर जो लोग long-term टाइम के लिए इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो वह Ulip fund में इन्वेस्ट करेंगे क्योंकि उन्हें दीर्घकाल में लाभ चाहिए और जो लोग शॉर्ट टर्म टाइम और अपनी तैसी को एक जगह इन्वेस्ट करना चाहते हैं उन लोगों के लिए Elss fund सबसे बेस्ट रहेगा।

    Mutual fund 3 year return 5 year return
    SBI advantage Fund series III Regular36.78 %26.96 %
    Axix long term equity fund20 %19.43%
    DSP tax sever fund 22.94 %15.79 %
    Union long term equity fund21.8 %15.18
    ELSS fund Returns

    मल्टीकैप बनाम फ्लेक्सीकैप म्यूचुअल फंड में अंतर और इनमे कौन सा निवेश के लिए बेहतर है|

    Conclusion

    आज के आर्टिकल में आपको जानकारी मिली है कि

    Elss fund vs Ulip fund क्या है और इन फंड में सबसे बेस्ट कौन सा है और इन दोनों में क्या क्या अंतर है। आप इस आर्टिकल के अनुमान से इन फंड में इन्वेस्ट कर सकते हैं।

    One thought on “Elss fund और Ulip fund में से कौनसा निवेश के लिए बेहतर ?पूरी जानकारी||Elss fund and Ulip fund which is a better for investment?”

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *